इन आसान तरीकों से उपयोग करेंगें तो मधुमेह के लिए अजवाइन होगा कारगर उपचार

author.webp
डॉ पाखी शर्मा, एमबीबीएसजनरल फिजिशियन, 6+ वर्ष के अनुभव के साथ
Published On : 9-Nov-2022Read Time : 5 minutes
share icon
ajwain for diabetes in hindi .jpg

लगभग हर घर के किचन में पाए जाने वाले छोटे से अजवाइन के डायबिटीज में बड़े-बड़े फायदे हैं। ,मधुमेह के लिए अजवाइन का सेवन करने के लिए पांच से भी ज्यादा लाभ आपको इस ब्लॉग में पढ़ने को मिलेंगे। तो शुगर में अजवाइन के फायदे जाननें और अजवाइन के नुकसान से बचने के लिए, यहां दिए गए तरीके से करें अजवाइन का सेवन। 

 

विषय सूची :

  • क्या डायबिटीज में अजवाइन खा सकते हैं? 
  • अजवाइन के पोषक तत्व 
  • मधुमेह के लिए अजवाइन के फायदे 
  • डायबिटीज में अजवाइन को कब और कितना खाना चाहिए 
  • डायबिटीज में अजवाइन खाने के तारिके 
  • डायबिटीज में अजवाइन के नुकसान 
  • सारांश पढ़ें 
  • अक्सर पूछे जाने वाले सवाल 

क्या डायबिटीज में अजवाइन खा सकते हैं?

जी हाँ, डायबिटीज में अजवाइन खा सकते हैं। अजवाइन में मौजूद प्रोटीन धीरे-धीरे पचता है, जो शुगर के अवशोषण को धीमा कर सकता है। साथ ही अजवाइन में भरपूर मात्रा में फाइबर भी होता है, जो न सिर्फ ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल कर सकता है, बल्कि लंबे समय तक पेट को भरा रख सकता है। इससे अतिरिक्त आहार के सेवन से बचा जा सकता है, जिससे कि डायबिटीज में वजन बढ़ने के जोखिम को भी कम किया जा सकता है।

अजवाइन के पोषक तत्व

मधुमेह के घरेलू उपचार में अजवाइन को इसमें मौजूद गुणों और पोषक तत्वों के वजह से शामिल करने की सलाह दी जाती है। आगे टेबल के माध्यम से अजवाइन के पोषक तत्वों की जानकारी दी गई है । 

पोषक तत्व मात्रा प्रति 100 g 
ऊर्जा 238 kcal
प्रोटीन 23.81 g
कार्बोहायड्रेट 47.62 g
फाइबर 47.6 g
कैल्शियम 667 mg
आयरन 16.19 mg
पोटैशियम 1333 mg
फैटी एसिड्स, टोटल सैचुरेटेड 0.62 g

मधुमेह के लिए अजवाइन के फायदे

1. डाइजेशन बूस्टर 

डायबिटीज की स्थिति में पाचन से जुड़ी समस्या होना सामान्य है। हालांकि, यह जरूरी है कि इस पर वक्त रहते ध्यान दिया जाए। ऐसे में शुगर में अजवाइन के फायदे डाइजेशन यानी पाचन क्रिया को बेहतर करना शामिल है। दरअसल, अजवाइन में कई एक्टिव एंजाइम्स हैं, जो पाचन क्रिया में सुधार कर सकते हैं। 

2. वजन नियंत्रित करने में सहायक 

डायबिटीज में वजन संतुलित रखना काफी जरूरी है। वहीं, अजवाइन के पोषक तत्वों की सूची में फाइबर भी मौजूद है। तो फाइबर खाने को पचाने के साथ ही लंबे समय तक पेट को भरा रख सकता है। इससे अधिक भूख नहीं लगती और व्यक्ति बार-बार खाने से बच सकता है। जिससे डायबिटीज में वजन या मोटापा बढ़ने का जोखिम कम हो सकता है। 

3. रक्तचाप में कमी

मधुमेह के लिए अजवाइन के फायदे रक्तचाप यानी हाई ब्लड प्रेशर को कम करने के लिए भी हो सकते हैं। रिसर्च के मुताबिक, अजवाइन में थाइमोल (thymol - एक तरह का यौगिक) पाया जाता है, जो रक्तचाप को कम कर सकता है। 

 

इसके साथ ही इसमें एंटीह्यपरटेंसिव गुण भी मौजूद होता है। इससे डायबिटीज में हाई ब्लड प्रेशर के जोखिम को कम किया जा सकता है। जिससे धमनियों को क्षति पहुँचने से रोका जा सकता है और ह्रदय रोग के रिस्क को भी कम किया जा सकता है। 

4. इम्युनिटी बढ़ाए

ब्लड शुगर कंट्रोल करने के घरेलू उपाय में अजवाइन को शामिल करना कई मायनों में लाभकारी हो सकता है। इसमें इम्यून बूस्टिंग गुण होता है, जो रोग प्रतिरोधक क्षमता को बेहतर करने का काम कर सकता है। इससे डायबिटीज के दौरान होने वाली छोटी-छोटी स्वास्थ्य समस्याओं और वायरल या बैक्टीरियल संक्रमण को दूर रखने में मदद मिल सकती है।

5. कोलेस्ट्रॉल कम करे

डायबिटीज में अजवाइन खाने के फायदे कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करने के लिए भी देखे जा सकते हैं। दरअसल, अजवाइन में एंटीहाइपरलिपिडेमिक प्रभाव (antihyperlipidemic - कोलेस्ट्रॉल कम करने का प्रभाव) होता है, जो हानिकारक कोलेस्ट्रॉल (LDL) को कम कर सकता है और अच्छे कोलेस्ट्रॉल (HDL) को बढ़ा सकता है। 

 

दरअसल, डायबिटीज में हानिकारक कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का जोखिम बना रहता है, जिससे आगे चलकर ह्रदय रोग और स्ट्रोक का खतरा हो सकता है। ऐसे में अजवाइन के सेवन से इस जोखिम को कम किया जा सकता है। 

6. हृदय स्वास्थ्य में सुधार

शुगर में अजवाइन के फायदे हृदय स्वास्थ्य पर भी देखे जा सकते हैं। अजवाइन में कार्डिओप्रोटेक्टिव प्रभाव (cardioprotective) होता है, जो हृदय को सुरक्षित रखने का काम कर सकता है। इससे डायबिटीज में हृदय को नुकसान होने से बचाया जा सकता है।

7. हड्डियों को स्वस्थ रखे 

डायबिटीज पेशेंट्स में हड्डियों से जुड़ी समस्या जैसे - हाथ-पैरों और जोड़ों में दर्द की शिकायत कई बार सुनने को मिलती है। ऐसे में हड्डियों को स्वस्थ रखने के लिए अजवाइन का सेवन लाभकारी हो सकता है। दरअसल, इसमें कैल्शियम होता है, जो हड्डियों को स्वस्थ और मजबूत बनाने में सहायक हो सकता है।

डायबिटीज में अजवाइन को कब और कितना खाना चाहिए

डायबिटीज में अजवाइन खाने का सही समय:

  • अजवाइन को सुबह पानी में उबालकर पानी के साथ ही सेवन कर सकते हैं। 
  • इसे सब्जी, पराठा बनाते वक़्त उपयोग कर दोपहर या रात के खाने में खा सकते हैं। 
  • आप चाहें तो खाने के बाद थोड़ी मात्रा में अजवाइन चबा सकते हैं।

डायबिटीज में कितना अजवाइन खाना चाहिए :

  • अगर आप सोच रहे हैं कि एक दिन में कितना अजवायन लेना है, तो डायबिटीज में करीब एक छोटा चम्मच अजवाइन का सेवन कर सकते हैं।

डायबिटीज में अजवाइन खाने के तरीके

डायबिटीज में अजवाइन को कुछ इस तरह खाएं:

  • खाने के बाद अजवाइन को ऐसे ही चबाकर खा सकते हैं।
  • एक चम्मच अजवाइन को पानी में उबालकर अजवाइन की चाय के तौर पर ले सकते हैं।
  • अजवाइन को तवे पर भूनकर नमक और नींबू के रस में मिलकार खा सकते हैं।
  • सब्जी, दाल या पराठे बनाते समय अजवाइन का तड़का लगा सकते हैं।

नोट: ध्यान रहे अजवाइन मधुमेह की दवा का रिप्लेसमेंट नहीं है। इसलिए अपनी डायबिटीज की दवा भी नियमित तौर पर लेते रहें।

डायबिटीज में अजवाइन के नुकसान

  • डायबिटीज में अधिक मात्रा में अजवाइन खाने से कुछ लोगों को गैस या एसिडिटी हो सकती है।
  • मधुमेह में अधिक अजवाइन के सेवन से पेट में ऐंठन की समस्या हो सकती है।
  • अगर किसी डायबिटिक को लो ब्लड प्रेशर की समस्या है, तो वे अजवाइन के सेवन से बचें, क्योंकि इससे ब्लड प्रेशर बहुत लो हो सकता है। 

उम्मीद है शुगर में अजवाइन के फायदे जानने के बाद आप इसे अपनी डाइट में शामिल करना चाह रहे होंगे। हालांकि, ध्यान रहे जिन खाद्य पदार्थों को औषधि की तरह इस्तेमाल किया जाता है, उन्हें शुगर में अपने आहार में शामिल करने से पहले डॉक्टर से सलाह भी जरूर लें। इसलिए, मधुमेह के लिए अजवाइन के उपयोग से जुड़े एक्सपर्ट एडवाइस के लिए आप Phable ऐप की भी मदद ले सकते हैं।

सारांश पढ़ें

  • डायबिटीज में अजवाइन खा सकते हैं। 
  • अजवाइन में प्रोटीन और फाइबर होते हैं, जो शुगर लेवल कंट्रोल कर सकते हैं । 
  • शुगर में अजवाइन के फायदे वजन कम करना, प्रतिरक्षा प्रणाली को बेहतर करना, रक्तचाप में कमी, आदि शामिल हैं।
  • डायबिटीज में सुबह अजवाइन को पानी में उबालकर ले सकते हैं। इस समय एक दिन में लगभग 1 छोटा चम्मच अजवाइन का सेवन कर सकते हैं।
  • डायबिटीज में अजवाइन के अधिक सेवन से होने वाले नुकसान में एसिडिटी होना, गैस होना, पेट में ऐंठन, आदि शामिल है।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

संबंधित ब्लॉग्स

शुगर में मेथी के फायदे: डायबिटीज में करेगी ये 5 समस्याएं दूर

शुगर में मेथी के फायदे: डायबिटीज में करेगी ये 5 समस्याएं दूर

क्या आप नैचुरल तरीके से शुगर कण्ट्रोल करना चाहते हैं, तो आजमाइए मेथी का घरेलू नुस्खा। जानिए शुगर में मेथी के फायदे और कैसे करें इसका सेवन।

और पढ़ें  Read more
छोटी सी कलौंजी हो सकती है बड़ी गुणकारी: जानिए शुगर में कलौंजी के फायदे

छोटी सी कलौंजी हो सकती है बड़ी गुणकारी: जानिए शुगर में कलौंजी के फायदे

यहां है शुगर में कलौंजी के फायदे से जुड़े कई सवालों के जवाब। तो इन्हें जानने के बाद आप कलौंजी को अपने आहार में शामिल करने से खुद को रोक नहीं पाएंगे।

और पढ़ें  Read more
क्या शुगर में चिरायता के फायदे होते हैं? जाने रिसर्च क्या कहता है

क्या शुगर में चिरायता के फायदे होते हैं? जाने रिसर्च क्या कहता है

शुगर में चिरायता के फायदे तभी होते हैं, जब इसे सावधानी के साथ लिया जाए। यहां से मधुमेह में चिरायता लेने से जुड़ी पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

और पढ़ें  Read more