शुगर में शराब पी सकते है या नहीं: जानिए शराब का डायबिटीज पर असर

author.webp
डॉ पाखी शर्मा, एमबीबीएसजनरल फिजिशियन, 6+ वर्ष के अनुभव के साथ
Published On : 8-Nov-2022Read Time : 4 minutes
share icon
alcohol for diabetes in hindi .jpg

आजकल हर अवसर पर शराब पीना काफी आम हो गया है। जब शराब की बात आती है, तो कुछ लोग अपने हेल्थ का भी नहीं सोचते हैं और पार्टीज़ में काफी मात्रा में शराब का सेवन करते हैं। ऐसे में जिन्हें डायबिटीज है, उन्हें यह जानना जरूरी है कि शुगर में शराब पी सकते है या नहीं। तो इससे जुड़ी जानकारी प्राप्त करने में हम आपकी मदद करेंगे और बताएँगे कि शराब मधुमेह रोगियों को कैसे प्रभावित करती है। 


विषय सूची :

  • शुगर में शराब पी सकते है या नहीं 
  • शराब का डायबिटीज पर प्रभाव 
  • मधुमेह में शराब के नुकसान 
  • शुगर में शराब पीते समय ध्यान देने वाली बातें 
  • सारांश पढ़ें 
  • अक्सर पूछे जाने वाले सवाल 

शुगर में शराब पी सकते है या नहीं

जी नहीं, डायबिटीज में शराब नहीं पी सकते हैं। इस समय शराब का सेवन करने पर आपकी स्थिति और भी गंभीर हो सकती है। शराब आपके ब्लड शुगर लेवल को बहुत ज्यादा बढ़ा सकता है या कम कर सकता है, क्योंकि इसमें हाई कार्ब्स और कैलोरीज होते हैं। 


इसलिए, मधुमेह की स्थिति में शराब और शराब से बने पदार्थों से परहेज करना बेहतर होगा। फिर भी किसी के मन में इसके सेवन का ख्याल आ रहा है, तो वे इस बारे में एक बार डॉक्टर से जरूर बात करें।

शराब का डायबिटीज पर प्रभाव

शराब मधुमेह को कई तरह से प्रभावित कर सकता है, जिससे कि डायबिटीज के लक्षण और जटिलताएं बढ़ सकती हैं। ये प्रभाव कुछ इस तरह से हो सकते हैं।

  • शराब मधुमेह की दवाई के साथ प्रतिक्रिया कर सकती है, जिससे कि ब्लड शुगर बहुत ज्यादा कम हो सकता है और हाइपोग्लाइसीमिया (hypoglycemia) का जोखिम बढ़ सकता है। 
  • कुछ मामलों में शराब और दवाई की प्रतिक्रिया से सेहत पर हानिकारक प्रभाव भी नजर आ सकते हैं।
  • शुगर में शराब पीने से किडनी का कार्य प्रभावित हो सकता है। इससे किडनी से जुड़ी समस्या होने का जोखिम बढ़ सकता है। 
  • मधुमेह में शराब लेने से आपकी भूख भी प्रभावित हो सकती है। इससे आप ओवरईटिंग कर सकते हैं और आपका ब्लड शुगर लेवल और वजन बढ़ सकता है। 
  • अगर आप सोच रहे हैं कि डायबिटीज में दारू पीने से क्या होता है, तो बता दें कि यह पैंक्रियाज को नुकसान पहुँच सकता है, जिससे कि इंसुलिन का उत्पादन भी प्रभावित हो सकता है।
  • शुगर में शराब पीने से लिवर पर भी असर पड़ सकता है। शराब पीने से लीवर में फैट जमा हो सकता है, जिससे आगे चलकर फैटी लिवर होने का जोखिम बढ़ सकता है। वहीं, डायबेटिक्स में पहले से ही लिवर से जुड़ी समस्या होने का खतरा बना रहता है। ऐसे में शराब के सेवन से यह रिस्क और बढ़ जाता है। 

मधुमेह में शराब के नुकसान

मधुमेह में शराब के नुकसान कई तरह से हो सकते हैं। इसलिए, डायबिटीज में शराब पीने से बचना चाहिए। 

  • शराब के सेवन से शुगर बढ़ने के अलावा, शुगर काफी कम भी हो सकता है। दरअसल, लिवर का काम ग्लाइकोजन (glycogen- एक तरह का ग्लूकोज़) को स्टोर करना है, लेकिन जब आप शराब पीते हैं, तो आपके लीवर को ब्लड शुगर कंट्रोल करने के बजाय उसे निकालने का काम करना पड़ता है। जिस कारण ब्लड में शुगर कम होने की स्थिति या हाइपोग्लाइसीमिया हो सकता है। 
  • डायबिटीज में शराब पीने से मोटापा बढ़ सकता है, जो मधुमेह की स्थिति को गंभीर कर सकता है।
  • शराब आपके रक्तचाप को भी बढ़ा सकता है, जिससे हाइपरटेंशन यानी हाई बीपी का जोखिम हो सकता है।
  • इस वक्त शराब पीने से ट्राइग्लिसराइड (triglyceride - रक्त में मौजूद एक का तरह फैट) का स्तर बढ़ सकता है। इस फैट के बढ़ने से स्ट्रोक, ह्रदय रोग का जोखिम बढ़ सकता है। 
  • शुगर में शराब पीने से मतली या उल्टी की समस्या हो सकती है।

शुगर में शराब पीते समय ध्यान देने वाली बातें

  • इस समय व्यक्ति को शराब की मात्रा का ध्यान रखना चाहिए। बेहतर है 1 छोटे पेग से ज्यादा शराब का सेवन न करें।
  • डायबिटीज की स्थिति में अगर कोई व्यक्ति किसी खास अवसर पर शराब का सेवन करने की सोच रहा है तो बेहतर है उस दिन इन्सुलिन का उपयोग न करें। 
  • कभी भी खाली पेट शराब न पिएं।
  • डायबिटीज में शराब में मिक्स करने के लिए हाई कैलोरी युक्त तरल पदार्थ लेने के बजाय, पानी या बर्फ के टुकड़े मिलाएं।

अगर आप सोच रहे हैं कि शुगर में शराब पी सकते है या नहीं, तो बता दें कि डायबिटीज में शराब पीना हानिकारक हो सकता है। इसलिए, मधुमेह रोगियों को शराब से दूर रहना चाहिए। साथ ही डायबिटीज को मैनेज करने के लिए हेल्दी सब्जियों और घर में बने फलों का जूस लेना चाहिए। 


इसके अलावा, डायबिटीज से जुड़ी अन्य जानकारी प्राप्त करने के लिए Phable ऐप के माध्यम से आप एक्सपर्ट्स से जुड़ सकते हैं और उनकी सलाह ले सकते हैं।


सारांश पढ़ें

  • डायबिटीज में शराब नहीं पीना चाहिए, क्योंकि यह आपकी स्थिति को और भी गंभीर कर सकता है। 
  • शराब में हाई कार्ब्स और कैलोरीज होते हैं, जिससे कि यह आपके ब्लड शुगर लेवल को बहुत ज्यादा बढ़ा सकता है।
  • मधुमेह में शराब पीने से यह दवाई के साथ प्रतिक्रिया कर सकता है। इससे पैंक्रियाज और लिवर को नुकसान हो सकता है।
  • मधुमेह में शराब के नुकसान में लो ब्लड शुगर, मोटापा बढ़ना, ब्लड प्रेशर बढ़ना, आदि शामिल हैं। 
  • मधुमेह में कभी भी खाली पेट शराब न पिएं, इन्सुलिन लगाने के बाद शराब का सेवन न करें, शराब में सोडा आदि मिलाने के जगह पानी या बर्फ का चयन करें।
  • अगर किसी डायबिटिक्स को ओकेजनली अल्कोहल का सेवन करना है तो बेहतर है इस बारे में डॉक्टर से बात करें।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

संबंधित ब्लॉग्स

शुगर में मेथी के फायदे: डायबिटीज में करेगी ये 5 समस्याएं दूर

शुगर में मेथी के फायदे: डायबिटीज में करेगी ये 5 समस्याएं दूर

क्या आप नैचुरल तरीके से शुगर कण्ट्रोल करना चाहते हैं, तो आजमाइए मेथी का घरेलू नुस्खा। जानिए शुगर में मेथी के फायदे और कैसे करें इसका सेवन।

और पढ़ें  Read more
छोटी सी कलौंजी हो सकती है बड़ी गुणकारी: जानिए शुगर में कलौंजी के फायदे

छोटी सी कलौंजी हो सकती है बड़ी गुणकारी: जानिए शुगर में कलौंजी के फायदे

यहां है शुगर में कलौंजी के फायदे से जुड़े कई सवालों के जवाब। तो इन्हें जानने के बाद आप कलौंजी को अपने आहार में शामिल करने से खुद को रोक नहीं पाएंगे।

और पढ़ें  Read more
क्या शुगर में चिरायता के फायदे होते हैं? जाने रिसर्च क्या कहता है

क्या शुगर में चिरायता के फायदे होते हैं? जाने रिसर्च क्या कहता है

शुगर में चिरायता के फायदे तभी होते हैं, जब इसे सावधानी के साथ लिया जाए। यहां से मधुमेह में चिरायता लेने से जुड़ी पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

और पढ़ें  Read more